प्रूनिंग की बुनियाद

प्रूनिंग की बुनियाद

ठीक से प्रूनिंग किया गया पेड़ भावी रूप में एक प्राकृतिक पेड़ की तरह ही लगता है । कहने का अर्थ ये है कि एक प्रूंड पेड़ देखने में और चरित्र में अपने मौलिक रूप जैसा ही लगना चाहिए। एक प्रूनर को इस संरचनात्मक अखंडता को बनाए रखने के प्रति संवेदनशील होना चाहिए। इसके अलावा प्रूनर को पेड़ जीव विज्ञान और उचित प्रूनिंग सिद्धांतों के बारे में थोड़ी जानकारी होनी भी आवश्यक और लाभदायक होती है।

सेब की प्रूनिंग की प्राथमिकताएं

1) पेड़ को स्वस्थ बनाए रखना : (a) सभी सुखी हुई और रोगग्रस्त टहनियों को हटाना (b), दूसरी टहनियों को लांघने वाली टहनियों (crossover limbs) को हटाना, जो दूसरी टहनी के साथ रगड़ खा सकती है, ताकि टहनियों को नुकसान ना हो और बीमारियों से बच सके   (c) कमज़ोर शाखाओं को उनके टूटने से पहले ही हटाना।

2) पुराने सूखे हुए शूट्स को हटा  कर नए शूट्स की ग्रोथ को प्रोत्साह्ञ देना चाहिए और एक साल में 1/3 से अधिक शूट्स की हेडिंग न्हीं करनी चाहिए।

3) फलों का उत्पादन : (a) फल उत्पादन में वृद्धि ; (b) फलों के भार को संभालने लायक मजबूत 45 डिग्री के कोण वाली टहनियाँ विकसित करना; (c) सीधे ऊपर या सीधे नीचे की तरफ बढ़ने वाली टहनियों को हटाना ; (d) पेड़ के आकार को बनाए रखना ; () फल बीमे को बनाए रखना।

सेब के पेड़ों की शरीर-रचना

(Crotch) क्रॉच : टहनियों और मुख्य तने (लीडर) के बीच का कोण । मजबूत टहनियों का कोण चौड़ा, लगभग 45 डिग्री का होता है ; कमजोर टहनियों का कोण संकीर्ण होता है।

 (Scaffold) स्काफोल्ड टहनियाँ : मुख्य तने से निकली प्राथमिक शाखाएँ।

 (Water sprout) वॉटर स्प्राउट टहनियाँ :एक शाखा पर निष्क्रिय कली से निकला हुआ, बहुत तेज़ी से बढ़ने वाला शूट। इन्हें प्रूनिंग के वक्त काट देना चाहिए।

(Sucker) सकर टहनी: एक तेज़ी से बढ़ने वाला शूट, जो जड़ों से या कलम वाली जगह (Grafting point) के नीचे से उत्पन्न होता है। साल के किसी भी वकत काटा जा सकता है (आस पास की मिटी को खोद कर बिल्कुल आधार से काटा जाना चाहिए)।

कृपया चित्र का अनुसरण करें

2pdf1

शाखा के भाग

(Terminal bud) टर्मिनल बड: टहनी के नोक पर एक मोटा बीमा, ये सबसे पहले ओर सबसे तेज़ ग्रोथ करता है अगर इसे काट दिया जाए तो इसके नीचे के कई बड्स ग्रोत करते है।1

(Leaf bud) लीफ बड : टहनी के साइड की तरफ स्पाट त्रिकोणीय बड।  इस बड को बढ़ाने के लिए इसके ठीक उपर से टहनी को काटना चाहिए। टहनी के बाहर की तरफ़ वाले लीफ बड को बढ़ाना चाहिए, ताकि पेड़ की ग्रोथ बाहर की तरफ हो और उचित दूरी ओर रोशनी प्राप्त हो सके।2

(flower bud) फलावर बड: फलावर बड, लीफ बड की तुलना में मोटा होता है और वसंत ऋतु में सबसे पहले खिलता है ।3

(spur) स्पर (बीमा): सेब के पेड़ की टहनियों पर एक छोटी सी टहनी जो सिर्फ़ पुरानी टहनियों पर उत्पन्न होते है।  इन बिमों से फिर सेब के फलों का निर्माण होता है।  इन्हें मत काटें।4

कृपया चित्र का अनुसरण करें

6

प्रूनिंग का समय

आम तौर पर प्रूनिंग करने के लिए सबसे अच्छा समय निष्क्रिय अवधि (Dormant season) के दौरान होता है (सर्दियों में)। हालांकि  ज़रूरत के हिसाब से थोड़ी बहुत प्रूनिंग पूरे साल मे कभी भी की जा सकती है, जैसे की मृत या रोगग्रस्त शाखाओं को किसी भी समय हटाया जा सकता है, जितनी जल्दी हटाएँ, उतना अच्छा।

पेड़ की प्रूनिंग करते समय, ध्यान में रखें:

निष्क्रिय मौसम (Dormant season) में प्रूनिंग ग्रोथ को बढ़ावा देती है । गर्मियों मे की गई प्रूनिंग पेड़ की ग्रोथ को कम करती है । इसकी वजह पेड़ो से पतियों का हटना है, जो की पोशाक तत्वों का निर्माण करती है । हालाकी गर्मियों मे बहुत अधिक प्रूनिंग पेड़ों को नुकसान भी पहुँचा सकती है । वसन्त (Post-dormancy) और पतझड़ (Pre-dormancy) के मौसम के दौरान पेड़ों में प्रूनिंग सबसे हानिकारक होती है क्योंकि पेड़ इन समय बहुत नाज़ुक होते है। जब आप एक पेड़ का हिस्सा काटते है तो एक घाव बनता है, जो कि कीटों और रोग लगने के लिए पेड़ को अतिसंवेदनशील बनाता है। इस मुसीबत से बचने के लिए हमेशा बड़े घावों की जगह छोटे घाव बनाने की कोशिश होनी चाहिए । अगर किसी टहनी को काटने की ज़रूरत है तो उसे तब ही काट दें जब वह एक छोटी सी टहनी हो नाकी जब वो एक बड़ी शाखा बन जाए ताकि काटने का घाव छोटे से छोटा रहे।

क्ट्स का स्थान (placement of cuts)

आप जिस बड से शूट की ग्रोथ चाहते है , उस शूट के उपर कट लगाएँ । टहनी पर बड का स्थान शूट के बढ़ने की दिशा को निर्धारित करता है। बाहर के तरफ़ के बड के उपर तिरछा काटने से अक्सर बाहर की तरफ़ को ही शूट निकलता है । टहनी पर सपाट कट लगाने से कट के नीचे के दो बड्स से शूट्स निकलते है।7

Capture

banpo

OPEN IN NEW WINDOW | JOIN TALKAPPLE GROUP

 

 

@ Since 2015 | lets Grow Apple

error: Content is protected !!

Log in with your credentials

Forgot your details?