सेब में नाइट्रोजन की भूमिका

सेब में नाइट्रोजन की भूमिका

(In English)

नाइट्रोजन

नाइट्रोजन एक प्राथमिक पोषक तत्व है जो सेब उत्पादन और उच्च पैदावार में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। नाइट्रोजन सेब के पेड़ की वनस्पति विकास के लिए मुख्य रूप से जिम्मेदार महत्वपूर्ण पोषक तत्वों में से एक है।

स्वस्थ सेब के पेड़ के संयंत्र के ऊतकों में 2 से 6 प्रतिशत नाइट्रोजन होती है। नाइट्रोजन क्लोरोफिल का एक प्रमुख घटक है जो प्रकाश संश्लेषण के लिए आवश्यक है। नाइट्रोजन एमिनो एसिड का एक प्रमुख तत्व  है जो  प्रोटीन  का निर्माण करने मे मुख्य भूमिका निभाते है। ये प्रोटीन एंजाइम और न्यूक्लिक एसिड के रूप में उपयोग होता है।

सेब के पेड़ के लिए मौजूद  नाइट्रोजन

मिट्टी में नाइट्रोजन तीन बुनियादी रूपों में मौजूद है

  1. जैविक नाइट्रोजन
  2. अमोनियम आयन (अजैवी नाइट्रोजन)
  3. नाइट्रेट आयन (अजैवी नाइट्रोजन)

मिट्टी में 95 प्रतिशत से 97 प्रतिशत तक  नाइट्रोजन जैविक रूप में उपलब्ध होती है। जैविक नाइट्रोजन जैविक पदार्थों  के साथ मिली होती है इसलिए सेब के पेड़ के लिए उपलब्ध नहीं होती। केवल 2 से 4 प्रतिशत नाइट्रोजन जो नाइट्रेट और अमोनियम के अजैविक रूप मे होती है । केवल वे ही  सेब के पेड़ों के  लिए उपलब्ध होती  है। सूक्ष्मजीवाणुओं द्वारा नाइट्रोजन के जैविक रूप को अजैविक नाइट्रोजन मे तोड़ा जाता  है। जैविक नाइट्रोजन का अजैविक नाइट्रोजन  मे टूटने की इस प्रक्रिया को मिनरलाइज़ेशन कहते  है। सेब के पेड़ की जड़ों द्वारा अवशोषित नाइट्रोजन अधिकतर नाइट्रेट के रूप में और एक कम सीमा तक अमोनियम के रूप में होती है।

अमोनियामय नाइट्रोजन

अमोनियामय नाइट्रोजन एक सकारात्मक चार्ज वाली नाइट्रोजन होती है जो की अमोनिया से प्राप्त होती है। अमोनियामय नाइट्रोजन मिट्टी में सबसे अधिक  मौजूद होती है क्योंकि अमोनियम,  नाइट्रोजन चक्र द्वारा स्वाभाविक रूप से निर्मित होता है या उर्वरकों के माध्यम से पेश किया जाता है। सभी अमोनियम आधारित नाइट्रोजन उर्वरकों की एक लंबी अवधि तक प्रयोग का प्रभाव मिट्टी के पीएच का कम होना होता  है। अमोनियामय नाइट्रोजन बैक्टीरिया द्वारा नाइट्रेट रूप में बदला जाता है।

नाइट्रेट नाइट्रोजन

नाइट्रोजन की नाइट्रेट फार्म सीधे सेब के पेड़ की जड़ों द्वारा अवशोषित कर लिए जाते  है। यह सकारात्मक चार्ज वाली नाइट्रोजन होती है जो की मिट्टी द्वारा सोखा नहीं जाता है;इसलिए  यह मिट्टी से बाहर निकालने के लिए स्वतंत्र होती है। मिट्टी अगर पानी से संतृप्त हो जाए तो नाइट्रेट नाइट्रोजन , अनाइट्रीकरण  के माध्यम से वातावरण मे गुम हो सकती  है। पौधे की जड़ों का पानी को अवशोषित करने के रूप में नाइट्रेट भी अवशोषित हो जाता है।

नाइट्रोजन की मुख्य भूमिका

यह अमीनो एसिड के तत्व है जो प्रोटीन के  निर्माण मे प्रमुख भूमिका निभाते  है।यह सेब के पेड़ की वनस्पति के विकास के लिए  जिम्मेदार होते है। यह बेहतर प्रकाश संश्लेषण की दर में मदद करता है। यह कोशिका विभाजन में मदद करता है। यह पत्तियों में गहरे हरे रंग के स्रोत के रूप में कार्य करता है। यह जोरदार पेड़ विकास का प्रदर्शन में मदद करता है। अतिरिक्त नाइट्रोजन से फलों मे  रंग आने मे देरी हो सकती है। अतिरिक्त नाइट्रोजन भी छोटे फल आकार में परिणाम कर सकते हैं।

नाइट्रोजन की कमी

NITROGEN DEFICIENCY

NITROGEN DEFICIENCY

NITROGEN DEFICIENCY

NITROGEN DEFICIENCY

नाइट्रोजन की कमी से क्लोरोफिल के तत्व कम हो जाते है  इसलिए पत्तियों पीला पड़ना , नाइट्रोजन की कमी के प्राथमिक लक्षण है। नाइट्रोजन की कमी से प्रोटीन  कम बनते है जिस से पेड़ का विकास अवरुद्ध होता है।

नाइट्रोजन की कमी से  फूल और फल सेट कम होता है।

नाइट्रोजन उर्वरक

  • यूरिया (46-00-00) (एन-पी-के)
  • कैल्शियम नाइट्रेट 15.5% नाइट्रोजन
  • पोटेशियम नाइट्रेट (एन पी-के) (13-00-45)
  • केन कैल्शियम अमोनियम नाइट्रेट 26% नाइट्रोजन
  • अमोनियम नाइट्रेट 35% नाइट्रोजन
  • कैल्शियम साएनआअमाएड 20.6% नाइट्रोजन
  • अमोनियम सल्फेट नाइट्रेट 26% नाइट्रोजन

मिट्टी से नाइट्रोजन हानि

  • लीचिंग
  • वाष्पीकरण नुकसान (वातावरण मे गैसीय अमोनिया की हानि)
  • रन-ऑफ़
  • अनाइट्रीकरण (नाइट्रेट का नाइट्रोजन के अन्य रूपों मे रूपांतरण)

OPEN IN NEW WINDOW | JOIN TALKAPPLE GROUP

 

 

@ Since 2015 | lets Grow Apple

error: Content is protected !!

Log in with your credentials

Forgot your details?